Jan 31, 2016

जानिये अगर आप दैनिक भास्कर में हैं तो कितना होना चाहिये आपका वेतन











दूसरे समाचार पत्रों के पत्रकार भी वेतन तालिका बनाने में ले सकते हैं बिस्तर पर पड़े जुझारू पत्रकार हेमंत की मदद 

प्रिय मित्रों,

मैं जब से मजीठिया वेज बोर्ड की लड़ाई में भड़ास के यशवंत सर के आशीर्वाद से आप सबके साथ शामिल हूआ हूं, आप सबका लगातार समर्थन और उत्साह मिल रहा है। देश भर के पत्रकारों के फोन लगातार आ रहे हैं और लोग मुझसे माननीय सर्वोच्च न्यायालय में जमा किये जाने वाले एफिडेविट के बारे में पूछ रहे हैं। साफ कहूं तो लगभग २०० फोन मेरे मोबाईल पर आये जिसमें लगभग १८० फोन दैनिक भास्कर के अपने पत्रकार भाईयों और भास्कर से जुड़े देश भर के लोगों के थे। उससे साफ है कि सबसे ज्यादा प्रताड़ना के शिकार लोगो में भास्कर के पत्रकारों की संख्या सबसे ज्यादा है।


उधेड़बुन में था कि भास्कर सहित देश भर के पत्रकार भाईयों की समस्याओं का समाधान कैसे होगा। वो टर्नओवर सहित दूसरे सवाल पूछ रहे थे। साथ ही यह जानना चाहते थे कि उनका वेतन कितना होना चाहिये। इसी उधेड़बुन के बीच अचानक मुझे आद आया कि मेरे एक मित्र हेमंत शिवदास चौधरी भी भास्कर के औरंगाबाद यूनिट में हैं। भास्कर के तेज तर्रार पत्रकारों में से एक हेमंत का प्रबंधन ने स्थानांतरण कर दिया तो उन्होंने इंडस्ट्रीयल कोर्ट से स्टे ले लिया और अब वे भास्कर प्रबंधन के खिलाफ एक मामला हाईकोर्ट में लड़ रहे हैं।

मैने हेमंत को फोन किया तो पता चला कि उनका इनकमिंग काल बंद है। मन में तमाम शंकाएं आईं। खैर इसी बीच हेमंत ने मुझे फोन किया। फोन पर हेमंत ने जो बताया वो सुनने के बाद उनके जज्बे को मैं सलाम करता हूं। हेमंत ने बताया कि पिछले आठ महीने से वे एक एक्सीडेंट के कारण बिस्तर पर पड़े हैं मगर फिर भी भास्कर प्रबंधन से उनकी मजिठिया की लड़ाई जोर शोर से जारी है। हेमंत से जैसे जैसे मैं बात कर रहा था मुझे लगा हेमंत जरूर देश भर के भास्कर सहित दूसरे पत्रकारों की मदद कर सकते हैं।

हेमंत से बात हुयी तो वे सहज तैयार हो गये भास्कर सहित देश भर के पत्रकारों के सवालों का जवाब देने के लिये। हेमंत ने मजिठिया के अनुसार अपने सीए से वेतन चार्ट और बकाया भी बनवाया वो भी पूरे चार साल का तथा महीना व घंटा के ओवरटाईम के हिसाब से भी। निवेदन किया तो वे अपना सीए के हिसाब से बनवाया गया वेतन चार्ट भी देने को तैयार हुये और आधी रात को ही हेमंत का मेल मुझे मिल चुका था।

हेमंत शिवदास चौधरी का नंबर आपको भी भेज रहा हूं। जिनको भी अपने वेतन तालिका या भास्कर से जुड़े कुछ सवाल पूछने हो वे हेमंत से उनके मोबाईल नंबर पर पूछ सकते हैं और उनका वेतन तालिका देख सकते हैं। इससे जान सकते हैं कि मजिठिया के अनुसार दैनिक भास्कर या दूसरे पत्रकारों का वेतन तालिका कैसे बनेगा। एक चीज और बता दूं आपको। माननीय सर्वोच्च न्यायालय में एफिडेविट जमा करने की अंतिम तिथि १० फरवरी है। अगर आपने अब तक एफिडेविट नहीं जमा किया है तो तुरंत उसे नोटरी कराके अपने वकील के जरिये माननीय सर्वोच्च न्यायालय में जमा करवा दें। हेमंत का नंबर ०७८७५९७७७७८ और ७७९८२७९७८१ है। किसी तरह की कोई दिक्कत हो तो आ मुझसे भी संपर्क ९३२२४११३३५ पर कर सकते हैं।

शशिकांत सिंह
मीडिया एक्टिविस्ट
मुंबई

5 comments:

  1. पत्रकार साथियो को इसका उपयोग करना घाहिए।

    ReplyDelete
  2. Sorry for delay in comment, because I did not saw this article.
    I observe the above Salary sheet made by Hemant S. Choudhari of Baskar from Aurangabad.
    CALCULATION IS WRONG.
    KASHINATH MATALE

    ReplyDelete
  3. Jankari k liy dhnyvad..but asliyt kuchh or hai sab

    ReplyDelete